किस्मत का लिखा कोई नही मिटा सकता

एक दिन यमराज एक लड़के के पास आये और बोले –

“लड़के, आज तुम्हारा आखरी दिन है!”

लड़का : “लेकिन मैं अभी तैयार नही हुँ “.

यमराज : “ठिक है लेकिन सूची मे तुम्हारा नाम पहला है”.

लड़का : “ठिक है , फिर क्युं ना हम जाने से पहले साथ मे बैठ कर चाय पी ले ?

यमराज : “सहि है”.

लड़के ने चाय मे नीद की गोली मिला कर यमराज को दे दी.

यमराज ने चाय खत्म की और गहरी नींद मे सो गया.

लड़के ने सूची मे से उसका नाम शुरुआत से हटा कर अंत मे लिख दिया.

जब यमराज को होश आया तो वह लड़के से बोले -“क्युंकी तुमने मेरा बहुत ख्याल रखा इसलिये मे अब सूची अंत से चालू करूँगा”..!

सीख :

“किस्मत का लिखा कोई नही मिटा सकता”
अर्ताथ – जो तुम्हारी किस्मत मे है वह कोई नही बदल सकता चाहे तुम कितनी भी कोशिश कर लो .

इसलिये भगवत गीता मे श्री कृष्ण ने कहा है –

“तू करता वही है जो तू चाहता है,

पर होता वही है जो मैं चाहता हुँ

तू कर वह जो मैं चाहता हुँ
फिर होगा वही जो तू चाहता हैं”

..^..
,(-_-),
‘\””’.\’=’-.
\/..\\,’
//””)
(\ /
\ |,
,,; ‘,

यह एक अर्थपूर्ण है !
इसलिये इसे पढे और दूसरों को भी इसके बारे मे बताये l

दुसरी चिजे तो बहुत शेयर की होंगी भगवान की इस वाक्या को ज्यादा से ज्यादा आगे बढाये.

धन्यवाद,

You may also like...

3 Responses

  1. बहुत ही बढ़िया कहानी अच्छा लगा

    View Comment
  2. Sudhir kumar says:

    nic story thanks for u

    View Comment
  3. SANTOSH GURJAR says:

    GOOD REAL STORY

    View Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *